in

मेरी क्रॉसड्रेसर नौकरानी की चुदाई भाग 2

मेरे और पायल के बीच के जिस्मानी संबंध इस हद तक स्थापित हो चुके थे कि वह मेरे लंड की दीवानी हो चुकी थी और मैं उसकी गांड का। उसके नरम मस्त गद्देदार गांड मेरा मन करता था कि बस उसके गांड मारता ही रहूं, उसे चोदता रहू।

पायल एक मदमस्त सेक्सी फिगर की मालकिन थी और जब वह मेरे सामने अपने नौकरानी वाले सेक्सी कपड़ों में आती थी तो बस मेरा लंड किसका दीवाना हो जाता था। 

कई बार उसने साड़ी पहनकर मेरे साथ रात को सेक्स किया। वो कई बार मुझसे लड़की आती रही क्यों किसी दूसरे मर्द बुलाकर उसकी रंडी बनाऊं लेकिन ये माल सिर्फ मेरा था और मैं इसे किसी और को देना नहीं चाहता था।

बीच में ऐसा हुआ कि पायल को दिवाली पर अपने घर जाना पड़ा और is bich मैंने उसे बहुत मिस किया और जनाब उसके मैं रह नहीं पाया। 

जिस दिन दिवाली की छुट्टियों के बाद वह वापस आई मैंने स्पायल रंडी 2 दिन में 18 बार चोदा। ना मैं बाहर गया ना मैंने इसे बाहर जाने दिया। और यह भी हर धक्के के साथ मेरा जोश बढ़ा रही थी। 

देखते देखते मैं इस के ख्यालों में खोने लगा और हम लोग मस्ती मजाक के मूड में इधर-उधर लोगों को दिखाते हुए सेक्स करने लगे।

कई बार ऐसा हुआ क्यों मैं इसको ऊपर से लड़कों के कपड़े पहना की बिल्डिंग के बाहर ले गया और जैसे ही हमने शहर की सीमा क्रॉस की मैंने इसे एक एक करके कपड़े खोलने को कहा।  मेरे कार के आगे के सीट पर एक मस्त सेक्सी शरीर और उसके निहायती कामुक अदाएं हाईवे पर एक आग लगा रही थी। 

जाने कितनी बार ऐसा हुआ जहां मैंने गाड़ी के नारे लगाकर उसे वहीं सड़क के बीच में चोदा। और वह भी बेशर्म रंडियों की तरह अपनी गांड चौड़ी कर मजे से चुदवाती थी। 

कई बार हमें ट्रक वाले देख कर मुस्कुरा कर चले जाते थे। 

इस सब के बीच कई बार इस कुत्तिया  का लंड खड़ा हो जाता था। उसका लंड ज्यादा पढ़ा नहीं था बहुत छोटा सा था लेकिन फिर भी मैं जब उस को घोड़ी बनाकर उसकी गांड मार रहा होता , पायल रंडी का लंड अपने आप बड़ा हो जाता था। मुझे बहुत बुरा लगता था। 

मैंने कई बार पायल को कहा कि कुत्तिया तु एक रंडी है तुझे अधिकार नहीं कि तेरा लंड खड़ा हो। इस को कंट्रोल में कर वरना मैं इसको काट डालूंगा। वह भी मुझे चोदते हुए बहुत मादक आवाज में कहती थी काट डालो मालिक। काट डालो मेरे छोटे से बेशर्म लंड को और बना दो मुझे परमानेंट कुतिया।

मेरा और पायल का यह आपसी रिश्ता बहुत अच्छे से चल रहा था और वह हर रात मेरी कुत्तिया बन रही थी। लेकिन तभी उस हरामजादी की जिंदगी में कोई और आ गया था। वैसे उसने मुझे कभी प्यार करने का कहा भी नहीं था और वह बनके मेरी नौकरानी आई थी लेकिन फिर भी ना जाने क्यों मुझे वह थोड़ी थोड़ी पसंद आने लगी थी। फिर जैसा कि होता है क्रॉसड्रेसर रंडियों का मन बदल जाता है और दूसरे लंड को अपनी गांड देने में मचल जाता है। वह जब अपनी अपनी पढ़ाई के सिलसिले में कॉलेज जाती तो वह कॉलेज के अंदर किसी और की की रखैल बनती थी। यह सब मुझे उसने खुद ही बताया, मुझे थोड़ा सा बुरा लगा लेकिन पायल ने मुझे कभी भी प्यार के लिए नहीं बोला था, बल्कि वह तो सिर्फ मेरी कुत्तिया बनना चाहती थी जो कि वह अभी भी बनी हुई थी और उसने मुझे कभी भी नहीं बोला था कि वह मेरी कुत्तिया बनके नहीं रहेगी। 

खैर समय बीता गया मेरा उसके साथ लगाओ सिर्फ शारीरिक जरूरत होगी तभी रह गया थ। मैं उसके साथ और भी वहशी ही बन गया था, मैं उसके ऊपर अब मूतने तक लगा था, और वह मेरा पेशाब पी जाती थी।

मैंने उसे मारा-पीटा लोचा खूंटे से बंधा, और भी ना जाने उसके साथ क्या-क्या किया। 

मैंने उसे एक पक्की नौकरानी के तौर पर डेढ़ साल तक अपनी रंडी बनाकर रखा और उसे गाहे-बगाहे चोदा रहा। 

उसने पूरे डेढ़ साल अपने शरीर को मेरे लिए दम मक्खन की तरह चिकना रखा और हमेशा बेहतरीन से बेहतरीन सेक्सी कपड़े पहन कर ही मेरे सामने आए। 

इस दौरान मैंने उसके कई वीडियो बनाएं जिसमें उसकी हर तरह की जिंदगी के  मौजूद हैं और आज भी मेरे पास उसके वह वीडियो है जिसके चलते हैं वह आज भी अपने चार पैरों पर चलकर मेरी कुत्तिया बनती हुई आएगी।

खैर समय बीतता गया और डेढ़ साल पूरा होने के बाद मेरा ट्रांसफर दूसरी जगह हो गया और बड़े भारी मन से मुझे पागल जैसी सेक्सी गदरआई रंडी को दिल्ली में ही छोड़ना ही पड़ा।

अब उसकी शादी हो गई है लेकिन  अभी भी वह मेरी कुत्तिया है, और जब मैं आखरी बार दिल्ली गया था तो मैंने उसे एक फाइव स्टार होटल में ठीक उन्हीं पुराने दिनों की तरह अपनी रंडी बनाकर ठोका था जिस तरह की क्रॉसड्रेसर कुत्तिया बनकर वह मेरी जिंदगी में डेढ़ साल मेरी रांड बन कर रही थी।

What do you think?

-1 Points
Upvote Downvote

How many days in chastity you need?

मेरे क्रॉस ड्रेसर नौकरानी की चुदाई की कहानी